बोर्ड एग्जाम की तैयारी कैसे करें? | Board Exam Ki Taiyari kaise kare | How to prepare for board exam?

 नमस्कार दोस्तों हम सभी लोग इस पोस्ट में सीखने जा रहे हैं, कि हमको पढ़ाई कैसे करना चाहिए। जिससे हमारा Board exam में अच्छे से  नंबर आये।  दोस्तों अगर हमारा बोर्ड एग्जाम रहता है, तो हमको बहुत सारे टेंशन रहते हैं। की पेपर ना जाने किस तरह का आएगा। हमको किस तरह से पेपर को देना है, बहुत से ऐसे क्वेश्चन हमारे दिमाग में आते रहते हैं। इन सभी का हाल यही है, कि सब मिलाकर हमको पढ़ाई तो करना है। लेकिन एक अच्छे तरीके से पढ़ाई करना है। जिससे हमारे मार्क्स भी अच्छे आएंगे और हमको मेहनत भी कम पड़े। तो अब टेंशन का मुख्य कारण यह है। कि कुछ लोग एग्जाम आने के करीब तैयारी शुरू करते हैं। लेकिन उनके लिए भी ऑप्शन होता है। तो यही सब हम इस पोस्ट में जानकारी लेंगे कि हमें किस तरह से बोर्ड एग्जाम की तैयारी करना चाहिए। उससे पहले मैं बताना चाहूंगा, कि जब हमारा पहली बार बोर्ड होता है। यानी दसवीं क्लास तब हम कुछ ज्यादा ही टेंशन में होते हैं। क्योंकि उसके पहले हमारा कोई बोर्ड एग्जाम होता नहीं हैं। इसी दसवीं क्लास के बेस पर इतना कह सकते हैं की अगर हमारे हाई स्कूल में अच्छे मार्क्स है। तो जिस तरह से बोर्ड एग्जाम में हम लोग हाई स्कूल में मेहनत किए थे। कुछ उसी प्रकार हम लोग 12वीं क्लास में भी करते हैं। लेकिन अगर पढ़ाई एक तरीके से की जाए मेरे हिसाब से तो आपके नंबर अच्छे सकते। दोस्तों इसके लिए हम आप लोगों को कुछ टिप्स बताएंगे। इन टिप्स को आप चालू करके आसानी से अपने बोर्ड एग्जाम के लिए बेफिक्र रहें। क्योंकि हम सभी जानते हैं की बोर्ड एग्जाम में किताब जो हमारी एनसीआरटी है, उसी से प्रश्न आते हैं। लेकिन फिर भी हमको टेंशन रहता है। अब टेंशन इस बात का है कि हम लोग अपना समय गवा देते हैं पढ़ाई नहीं करते। जिससे जब एग्जाम हमारा करीब हो जाता है तो हमको बहुत दिक्कतें होती। हम टेंशन में होते हैं। 

दोस्तों हम सभी लोग जानते हैं कि हमारा बोर्ड एग्जाम जो दसवीं का होता है। उसमें अगर अच्छे नंबर आते हैं, तो हमारे स्कॉलरशिप में भी बहुत सहयोग प्रदान करते हैं। इसलिए हमको अच्छे नंबर लाना जरूरी है और हमारे भविष्य की न्यू भी मजबूत होती है। 10th बोर्ड की परीक्षा में अच्छे नंबर प्राप्त करने के लिए मैं आप सभी लोगों को एक सुझाव दूंगा अगर आप सभी लोगों को मेरी दिए हुए सुझाव अच्छे लगे तो कृपया उस पर अमल करना।  आपके एग्जाम बहुत ही आसानी से क्लियर हो और अच्छे मार्क्स तो आइए दोस्तों हम लोग जाने-

नोट्स तैयार करके Board  Exam की तैयारी करें-

 देखो फ्रेंड हमारे स्कूल में हमको एक नोट तैयार करवाया जाता है। हर एक सब्जेक्ट के लिए हर एक टीचर होते हैं, और वह हमको नोट्स बनवाते हैं। अब उस नोट्स को हमें यूं ही नहीं रखना है उस नोट्स में जो भी कुछ हम लिखते हैं उन्हें हमें नियमित तैयार भी करते रहना चाहिए। नोट्स बनाना इसलिए जरूरी है क्योंकि बहुत सी ऐसी चीजें होते हैं। जो हम कुछ दिनों बाद भूल जाते हैं और अगर हमारे पास नोट्स होगा तो हम उससे पढ़ सकते हैं। हम सभी को खुद के लिखे पढ़े नोट्स से हमको पढ़ने में बहुत ही आसानी होती है। जिससे हम लोग आराम से समझ भी जाते हैं। क्योंकि जब हमारे अध्यापक हमको किसी चीज का नोट्स बनवाते हैं। तो कुछ चीजें हमको जो समझ में नहीं आती है वह हम वहीं पर टीचर से अपने क्लियर कर लेते हैं तो हमारे डाउट्स भी क्लियर हो जाते हैं और फिर हम उस नोट्स को यूज़ करके भूली हुई चीजें फिर से याद कर लेते है।  तो है ना बढ़िया टॉपिक दोस्तों।  नोट तो बनाना जरूरी है मैं एक चीज आप लोगों से कहना चाहूंगा कि आप लोग नोट्स बनाते समय यह ध्यान रखें  हमारे नोट्स में जो महत्वपूर्ण टॉपिक है उन पर हाईलाइट कर दीजिए जैसे फार्मूले हो गए और हेडिंग ओके इसको तो हाईलाइट करना बहुत ही जरूरी होता है। नोट्स की मद्दत से आप सभी लोग अच्छे नम्बर ला सकते हो। 

नियमित पढ़ाई करेंके  Board Exam की तैयारी करें-

देखो दोस्तों हम सभी लोग नियमित पढ़ाई नहीं करते इसकी वजह से हमारे एग्जाम में हमको परेशानियां आती है। अब नियमित पढ़ाई करने का मतलब यह है कि हम लोग रोजाना पढ़ाई करें। कड़ी मेहनत तो करनी ही पड़ेगी अच्छे मार्क्स नंबर लाने के लिए हमको मेहनत तो करनी पड़ती है। इसके लिए आपको एक टाइम टेबल तैयार करना होगा और उस टाइम टेबल के अंतर्गत आपको पढ़ाई करनी होगी। मैं आपको बताना चाहूंगा कि आपके क्लास में जितने भी सब्जेक्ट आपको पढ़ाई जाते हैं उसका एक नियमित समय निर्धारित किये जाते है। जैसे कि हमारे स्कूल पर हम को नियमित समय पर पढ़ाया जाता है। एक सब्जेक्ट के बाद दूसरा सब्जेक्ट दूसरे के बाद तीसरा ऐसे ऐसे करके हमारे सारे सब्जेक्ट हमको एक समय सीमा निर्धारित होता है उसी के अंतर्गत पढ़ाया जाता है। जिससे हमारे सारे कोर्स क्लियर हो जाते है।  जब तक हमारे एग्जाम आते है। तबतक हम सभी लोग पूरी किताब पढ़ लेते हैं।  अब हम को समझना यहीं पर है कि बताओ हम लोग उतना ही दिन पढ़ते और हमारे स्कूल में सारे सब्जेक्ट खत्म भी हो जाते हैं।  और रिवीजन भी करवा देते लेकिन हमको याद नहीं होता है। तो इसके लिए आप लोग घर पर भी एक नियम बनाइए उस नियम के अंतर्गत आप लोग पढ़ाई कीजिए। जिससे हमारा बोर्ड एग्जाम हो या कंपटीशन एग्जाम हो सब क्लियर हो जाएंगे और एग्जाम भी हम लोगों को बहुत ही आसान लगे।  हम लोगों को कड़ी मेहनत नहीं करनी पड़ेगी अगर हम शुरुआती दौर से एक नियम तैयार करके और उसके अंतर्गत पढ़ते हुए रहे हैं। तो है ना एक अच्छा ऑप्शन। 

रिवीजन करके board Exam की तैयारी करें-

 देखे फ्रेंड हम लोग अगर एक टाइम टेबल में पढ़ रहे हैं। ठीक है हमारा सब चीज क्लियर है। लेकिन हमारा जब एग्जाम आता है। तो हमको रिवीजन करना जरूरी है। क्योंकि अच्छे नंबर लाने के लिए हमको रिवीजन करना बहुत ज्यादा जरूरी होता है। किसी भी विषय को अच्छे से याद रखने के लिए हमें रिवीजन करना जरूरी है। हमारे डाउट्स तब क्लियर होते हैं। जब हम किसी सब्जेक्ट को कितनी बार रिवीजन किए हैं। यानी मेरे कहने का मतलब यह है, कि अगर हम किसी चीज को बार बार करते हैं तो हमें कभी नहीं भूलता। कुछ छात्र तो ऐसे होते हैं, कि वह अपने कोर्स को पूरा कर लेते हैं फिर इसके बाद में संतुष्ट हो जाते हैं। अरे अब तो मेरा हो गया लेकिन जब परीक्षा आती है। तो हम लोगों को तो दिक्कतें आने लगती हैं हमारे प्रश्न हमें जब सामने दिखते हैं तो उसका उत्तर खुद खुद हम लोग भूल जाते हैं।  जब हम रिवीजन किये रहते तो हमारे सारे डाउट क्लियर रहते हैं इसलिए दोस्तों आप लोगों को हर टॉपिक रिवीजन करना जरूरी है। कोई भी टॉपिक एक बार दो बार से हमें नहीं जाता हमें उसको बार बार पढ़ना पड़ता है। बेशक हम एक टाइम टेबल में अपने कोर्स को पूरा तैयार किए हैं। लेकिन फिर भी हम को रिवीजन करना जरूरी है। जरूरी इसलिए भी है क्योंकि हमें अच्छे नंबर लाने हैं। जब हम रिवीजन करते हैं तो हमें बहुत सी जानकारियां भी हासिल होती दोस्तों मैं आप लोगों को इसी में एक छोटी सी कहानी सुनाऊंगा जो हमारे साथ गुजर चुकी है कहानी उस पर है कि जो लोग कहते हैं रिवीजन करने का कोई मतलब नहीं है। एक बार में ट्रेन से जा रहा था, तो हमारे बगल वाली सीट पर एक अंकल जी बैठे थे। जो गीता को पढ़ रहे थे तो मैंने उनसे प्रश्न किया। कि आखिर में अंकल जी आप इसको क्यों पड़ रहे हो न्यूज़पेपर है उसको पढ़ो नई-नई चीजें पढ़ो इसको पढ़ने की क्या जरूरत है। वह कुछ देर तक चुप रहे फिर कुछ नहीं बोले फिर हमने उनसे कहा तो मैंने उनसे पूछा कि अंकल जी आप कितनी बार इसको पढ़े हो और इससे आपको क्या फायदा।  तो उन्होंने कहा बेटा मैं 7 बार पढ़ चुका हूं। आठवीं बार पढ़ रहा हूं और मैं जितनी बार पढ़ता हूं उतनी बार मुझे नई चीजें सीखने के लिए मिलती है। तब हमें समझ में आया कि अगर हम किसी भी चीज को बार-बार पढ़ते हैं तो जिससे हमें एक नई जानकारी मिलती है यानी हम जितनी बार पड़ेंगे उतनी बार हमें उससे एक नई जानकारी मिल ही जाती है तो इसलिए हमको बार-बार रिवीजन करने से हमारे क्वेश्चन भी हमें क्लियर रहेंगे और उसका उत्तर भी अच्छे से हम लोगों को क्लियर रहेगा और हम एग्जाम में बेहतर तरीके से किसी भी क्वेश्चन का जवाब आसानी से दे सकते हैं।  क्वेश्चन तो हमारे एग्जाम में ही रहेंगे जो हमने पढ़ा है ना।  जो हमारे किताब में उसी से बनकर हमारे सारे क्वेश्चन आएंगे तो हमें घबराना नहीं चाहिए। 

ज्यादा किताबें ना पढ़ेंके board Exam की तैयारी करें-

 दोस्तों मैं बताना चाहूंगा आप लोगों की बहुत से हमारे दोस्ती यह गलती करते हैं। कि वह अलग अलग प्रकाशन की किताबें लेकर के और उसको पढ़ना और उसमें क्या एग्जाम में आएगा यह ढूंढने में अपना समय गवा देते हैं। बल्कि अपना कोर्स ना कंप्लीट कर पाते हैं और ना तो उसको तैयार कर पाते हैं। इसलिए हम आप लोगों से इस चीज के बारे में रिक्वेस्ट करना चाहेंगे की जिनका भी एग्जाम है। आप कोई भी एग्जाम देने वाले हो या आप बोर्ड एग्जाम की तैयारी कर रहे हो तो बहुत सी किताबों के पीछे ना भागो जैसे कि हम बोर्ड एग्जाम की तैयारी कर रहे तो हमारी एनसीआरटी या सीबीएसई पेटर्न है तो हम जानते हैं, की हमारी जो बुक है उसी से  क्वेश्चन बनकर आते है।  जिससे हमको हमारे कोर्स को ही पढ़ना चाहिए।  आपरिफरेंसइग बुक ले सकते हो जो आपकी मदद करेगी। आप अपने टीचर या गार्जन जो आप को पढ़ाते हो उनकी मदद से आप एक रिफरेंस बुक लीजिए और उसमें से जो भी आपको पढ़ने लायक हो वह पढ़िए बल्कि अपने कोर्स पर ज्यादा ध्यान दें जो आपकी बुक है।  जो आपने नोट्स तैयार किया है, क्योंकि हम स्कूल में जाते हैं और हमारे टीचर हमें एक अच्छा नोट्स बनवाते हैं .जिससे हमारे एग्जाम अच्छे से क्लियर हो जाए और हमारे अच्छे नंबर आए।  देखिए अगर हम अपने सिलेबस को पूरा कर लिए हैं सिलेबस को पूरी तरह से पढ़ लिए तो इसके बाद हमारे पास बहुत समय होता है। जिसमें हम रिवीजन करते हैं और अगर हम इस बीच कई बुकों की मद्द्त लेते हैं। तो वह हमारे लिए दिक्कत क्रिएट कर देती हैं। जिससे हम लोग उलझन में पड़ जाते हैं। किस बुक से पढ़े क्या पढ़े या ना पढ़े इसलिए हमको एक रिफरेंस बुक पढ़नी चाहिए।  वह भी अपने कोर्स को कंप्लीट करने के बाद और रिवीजन करने के बाद ही प्रयोग करें और अपने एग्जाम से पहले रिवीजन जरूर करे।  

रिव्यू पेपर सॉल्व करेंके  Board Exam की तैयारी करें-

 दोस्तों हमारे जो पिछले पेपर हैं, कई वर्षों के उनको लेकर के हम सॉल्व करें। इससे हमें यह आईडिया मिल जाएगा कि हमारा पेपर किस तरह से आता है। और हमारे पेपर में किस तरह के क्वेश्चन होते हैं यह क्वेश्चन हमारे कभी-कभी दोहरा भी दिए जाते हैं। तो इसलिए हम जैसे बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। दसवीं क्लास तो हम दसवीं क्लास के पिछले कई वर्षों के आए हुए पेपर को सॉल्व करेंगे।  जिससे हमें यह आइडिया मिल जाता है। कि हमें किस तरह के एग्जाम देने हैं। और समय को देख कर के ही पेपर सॉल्व करें।  क्योंकि आपके लिए समय भी निर्धारित होता है।  जिससे आप लोग अपने पूरे पेपर के प्रश्नों के जवाब निर्धारित समय में दे कर के आए।  आपके अच्छे मार्क्स अच्छे नंबर उठे अगर हम पिछले वर्षों के पेपर को सॉल्व करते हैं तो हमारे ऊपर की परीक्षा के जो दबाव बनते हैं वह कम हो जाते हैं क्योंकि हमको कुछ आईडिया हो जाता है कि हमारा पेपर किस तरह से आए और हमको एग्जाम में किसी क्वेश्चन का जवाब किस तरह से देना होगा। देखिए जब हम पिछले वर्षों के पेपर को सॉल्व करते हैं।  और हमारा कोई क्वेश्चन फस गया अगर तो अपने टीचर से जा करके पूछ सकते हैं।  लेकिन एग्जाम में ऐसा नहीं है एग्जाम में आपको खुद उन प्रश्नों के उत्तर लिखने होंगे।  जिसके लिए समय सीमा भी निर्धारित होगा तो इसलिए आप लोग पेपर को साल्व्ड करना जरूर चालू करें। जो आए हुए विगत वर्षों में पेपर हमारे पास उपलब्ध है। यह आपको इंटरनेट पर भी मिल जाएगा और या अपने सीनियर मित्रों से आप उन वर्षों के पेपर माँग सकते हो। अगर उनके पास होगा तो वह आपको जरूर देंगे।

निष्कर्ष 

दोस्तों इस पोस्ट में हम लोगों ने कई टिप्स के बारे में जानकारी हासिल की है। तो मैं आप लोगों से रिक्वेस्ट करना चाहूंगा कि आप लोग इन पर अमल जरूर करिए। अगर आप लोग इस तरीके से पढ़ाई करते तो आपके नंबर अच्छे हों सकते हैं अगर हम सही दिशा में कोई चीज करते हैं।  तो वह हमारे भविष्य के लिए भी अच्छा ही होता है इस पोस्ट में सिर्फ सिर्फ हम लोग कुछ सुझाव सीखे और यह सुझाव हम लोग उन विद्यार्थियों के लिए दिए हैं। लिखे हैं जो अपने एग्जाम में बहुत ही टेंशन में रहते हैं। अगर आप लोगों को हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे या आपका कोई प्रश्न हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में मैसेज टाइप कर सकते हैं। या आपका कोई क्वेश्चन हो।  मैं उसके जवाब आप लोगों को अच्छे से दूंगा और जिसको देने के बाद मुझे खुशी भी मिलेगी। दोस्तों सबसे लास्ट में मैं यह कहना चाहूंगा कि आप लोगों को इस पोस्ट में सिर्फ सिर्फ एक सुझाव दिए गए हैं। और वह सुझाव हम जो अपने ऊपर करते हैं सिर्फ उसी को लिखे हैं। इससे और किसी का फैयदा हो।