Rhymes for Nursery in Hindi | Hindi Nursery Rhymes | Baby Rhymes | Kids Song

Some Balgit Rhymes for Nursery in Hindi - Peacock Kabir, Maa Mujhe Bhi Reading Kabita Balgit, Poem Child Songs for Papa, Doll Queen's Kabita Balgit, Frog's Kabita Balgit, Owl's Kabita Balgit, Spider's Kabita Balgat, Elephant's Kaibta  Balgit, etc in hindi.

नर्सरी हिंदी गाने के बोल 
Baby Rhymes
मोर की कबिता

                                जिसकी दुम पर पैसा देखा।
                           रिम-झिम रिम-झिम बादल आये,
                             मोर छमा - छम नाच दिखाता ।।
नाच मोर का सबको भाता,
जब वह पंखों को फैलाता।
कुहू - कुहू कर शोर मचाता,
घूम - घूम कर नाच दिखाता।।
जो भारत का राष्ट्रीय पक्षी कहलाता

माँ मुझको भी पढ़ना कबिता बालगीत


मां मुझको भी पढ़ना
जीवन में कुछ करना 
नाम ऊंचा कर जाऊंगा
भारत माता आपका
मां मुझको भी स्कूल भेजो
मैं भी पढ़ने जाऊंगा
मां मुझको भी पढ़ना
जीवन में कुछ करना
मैं पढ जाऊंगा माँ
देश को आगे बढ़ा जाऊं
मां मुझको भी पढ़ना
जीवन में कुछ करना

                      लेखक: आशीष तिवारी



पापा के लिए कविता बाल गीत


                 काश कभी ऐसा हो पाता,
                 मैं भी पापा सा बन जाता।
                 घर में सब पर रोब जमाता,
                 बैठ मजे से काम कराता ।।



काश मुझे मिल जाए एक दिन
पापा का मोबाइल
लेकर जाओ स्कूल उसे मैं
और दिखाओ स्टाइल

            गुड़िया रानी की कबिता बालगीत 
    
                    क्यों रूठी हो गुड़िया रानी,
                     खालो लड्डू पी लो पानी
                     अच्छे बच्चे जिद नहीं करते,
                     बात मान लो बिटिया रानी।।

छोटी सी मुन्नी
 लाल गुलाबी चुन्नी 
पीले वाले सूट में 
चमचमाते बूट में
 नर्सरी में पढ़ती है
 सबको टा टा करती

मेंढक की कबिता बालगीत
                   मेंढक आया बारिश में,
                  कूद कूद कर बारिश में
                  बाजा बजाया बारिश में,
                  कीड़े खाया बारिश में।।
                   गीत सुनाया बारिश में,
                   टर्र टर्र टर्र टर्र टर्र टर्र।
                  की आवाज  लगाया,
                  मेंढक आया बारिश में।।

उल्लू की कबिता बालगीत

                     उल्लू के हैं आंखें गोल ,
                       उल्लू बोलता है जोर।
                      उल्लू दिन में देख ना पाए,
                       रातों को मौज उड़ाए।।
सर घुमाता चारों ओर,
उल्लू के हैं आंखें खोल।।।

मकड़ी की कबिता बालगीत
मकड़ी मकड़ी मकड़ी जी
तुम में एक हिम्मत देखी
तुम तो हिम्मत वाली 
कभी ना हार मानती
मकड़ी मकड़ी मकड़ी जी
तुम्हारी एक अजब कहानी
जाल बनाती हिम्मत से
हिम्मत हर दम करती हो
चाहे फेल हो रही हो
फिर प्रयास करती हो
एक राजा को तूने हिम्मत दी
आवाज कहानी चलती है
तू हिम्मत वाली हो
हारा राजा फिर से जीता
तुम तो हिम्मत वाली हो

नर्सरी हिंदी गाने के बोल (Nursery Rhymes in Hindi lyrics)
हाथी की कबिता बालगीत
                     
                        हाथी राजा बहुत बड़े
                       बड़े- बड़े भाई बड़े बड़े
                        हाथी राजा बहुत बड़े
                        सारे जानवरों से बड़े
                         गन्ना खाते बड़े-बड़े
                                   

हाथी आया हाथी आया
इस हाथी की भारी काया
सूंड हिलाता धूल उड़ाता
हाथी आया हाथी आया
सब बच्चों ने कोहराम मचाया
हाथी गई घूम बच्चे भागे दूर
इस हाथी की भारी काया 
हाथी आया हाथी आया